Showing posts from 2021
कह देना मुझे kah dena mujhe - A Hindi poem

कह देना मुझे kah dena mujhe - A Hindi poem

कह देना मुझे (हिंदी कविता)/Kah dena mujhe( Hindi poem) (जीवन में एक मोड़ ऐसा भी आता है जब इंसान किसी से न कोई शिकायत करना चाहता है , न किसी ...
हम और वो Hum aur wo - Hindi poem

हम और वो Hum aur wo - Hindi poem

   हम और वो(हिंदी कविता)/ hum aur wo ( Hindi poem) हम और वो हम रात भर करवटें बदलते रहे  और वो सुकून की नींद सोते रहे। हम याद में उनकी आंसू ब...
 माफ़ कर देना  Maaf kar dena - Hindi poem

माफ़ कर देना Maaf kar dena - Hindi poem

  माफ़ कर देना ( हिंदी कविता) / Maaf kar dena ( hindi poem) माफ़ कर देना माफ़ कर देना बनी मैं तेरी परेशानियां, माफ़ कर जाना हुई मुझसे नादानि...
क्या जिक्र करूं मैं kya zikar karun main - Hindi poem

क्या जिक्र करूं मैं kya zikar karun main - Hindi poem

  क्या जिक्र करूं मैं ( हिंदी कविता) / kya zikar karun main (Hindi poem) क्या जिक्र करूं मैं क्या जिक्र करूं मैं अपनी मुहब्बत का जिस मुहब्बत...
बेवजह Bewajah - Hindi poem

बेवजह Bewajah - Hindi poem

बेवजह / Bewajah - हिंदी कविता/ hindi poem बेवजह  कभी हो जाती है  बेवजह ही   जिंदगी गुलजार ! कभी सौ वजह भी  मुस्कुराने के लिए   लगती है बेज़ा...
मुझे कोई मनाए Mujhe koi manaye - A Hindi poem

मुझे कोई मनाए Mujhe koi manaye - A Hindi poem

  मुझे कोई मनाए( हिंदी - कविता) / Mujhe koi manaye (Hindi - poem) ( बच्चों में बालसुलभ प्रवृति होती है - रूठना, फिर मान जाना। लेकिन जीवन के ...
आहिस्ता - आहिस्ता Aahista - aahista - A Hindi poem

आहिस्ता - आहिस्ता Aahista - aahista - A Hindi poem

  आहिस्ता - आहिस्ता( हिंदी कविता) / Aahista - aahista ( Hindi poem) रिश्तों की खींचा तानी, भावनाओं के उठते गिरते लहरों के बीच थपेड़ों को सहत...
दिल मासूम होता है Dil masoom hota hai  - Hindi poem

दिल मासूम होता है Dil masoom hota hai - Hindi poem

 दिल मासूम होता है ( हिंदी कविता) / Dil masoom hota hai ( Hindi poem) दिल  मासूम होता है इश्क़ करनेवाला दिल मासूम होता है, मासूमियत खो जाए ज...
गर्मी,छाया,हवा पर कविता kah mukri kavya vidha - hindi poem

गर्मी,छाया,हवा पर कविता kah mukri kavya vidha - hindi poem

गर्मी,छाया,हवा पर कविता। ( काव्य विधा - कह मुकरी  ) (काव्य विधा - कह मुकरी) गर्मी,छाया,हवा पर कविता - hindi poem भोर होते ही तपने लगता जैसे ...
मुड़ कर ना देखना अब पीछे कभी mudkar na dekhna ab pichhe kabhi - Hindi poem

मुड़ कर ना देखना अब पीछे कभी mudkar na dekhna ab pichhe kabhi - Hindi poem

मुड़ कर ना देखना अब पीछे कभी - हिंदी कविता / Mudkar na dekhna ab pichhe kabhi - Hindi poem (आगे बढ़ो - move on... आसानी से लोग ये शब्द कह जा...
ना जाने क्या है ये Na jaane Kya hai ye - Hindi Poem

ना जाने क्या है ये Na jaane Kya hai ye - Hindi Poem

 ना जाने क्या है ये - हिंदी कविता / Na jaane Kya hai ye - Hindi Poem (जीवन है तो जीवन के हर रंग होंगे ही,हम चाह कर भी इनसे बच नहीं सकते।लेकि...
बे सिर पैर की ख्वाहिशें be sir pair ki khawahishen - Hindi poem

बे सिर पैर की ख्वाहिशें be sir pair ki khawahishen - Hindi poem

बे सिर पैर की ख्वाहिशें - हिंदी कविता/ Be sir pair ki khawahishen - Hindi poem. बे सिर पैर की ख्वाहिशें बस इतनी सी थी आरजू , मुझे जब दर्द हो...
होली की ख़ुमारी Holi ki Khumaari - Hindi poem

होली की ख़ुमारी Holi ki Khumaari - Hindi poem

 होली की खुमारी - हिंदी कविता/ Holi ki khumaari - Hindi poem  इस वर्ष हम सब कोविड -19 के प्रकोप के साथ होली का त्यौहार मनाने के लिए बाध्य है...
खामोशियों में लिपटी चाहतें khamoshiyon mein lipti chaahten - Hindi poem

खामोशियों में लिपटी चाहतें khamoshiyon mein lipti chaahten - Hindi poem

 खामोशियों में लिपटी चाहतें - हिंदी कविता / khamoshiyon mein lipti chaahten - Hindi poem (कहते हैं, जब किसी से हम प्यार करने लगते हैं या करत...
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर कविता mahila diwas par kavita - Hindi Poem

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर कविता mahila diwas par kavita - Hindi Poem

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर कविता(हिंदी कविता)/ Antarashtreey Mahila diwas(hindi poem) / Poem on women's day. अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस ...
एक पड़ाव ek padaaw - hindi poem

एक पड़ाव ek padaaw - hindi poem

  एक पड़ाव (हिंदी कविता) / Ek padaaw (hindi poem) ( इंसान की सबसे पुरानी और बड़ी गलतफहमी ये  है कि वो खुदको  सबसे अच्छा और बगैर कमी के व्यक्...
जरूरी है Jaruri hai - Hindi poem

जरूरी है Jaruri hai - Hindi poem

  जरूरी है... (हिंदी कविता)/ Jaruri hai (Hindi Poem) जरूरी है नवांकुर के लिए  धूप के साथ  नमी जरूरी है। बगिया के लिए फूलों के साथ कांटे जरूर...
साथ तुम्हारे रहना था Sath tumhare rahna tha - Hindi poem

साथ तुम्हारे रहना था Sath tumhare rahna tha - Hindi poem

  साथ तुम्हारे रहना था (हिंदी कविता)/ Sath tumhare rahna tha (Hindi Poem) साथ तुम्हारे रहना था। साथ तुम्हारे रहना था, संग रहने के अरमान में ...
एक फ़रेब Ek Fareb - Hindi poem

एक फ़रेब Ek Fareb - Hindi poem

एक फ़रेब(हिंदी कविता)/ Ek Fareb(Hindi poem) एक फ़रेब अगर कोई तुमसे बच रहा हो तो परेशान ना हो। सोचो...अच्छा हुआ, तुम बच गए, एक फ़रेब से। । (:...
रिश्ते टूटे नहीं हैं Rishte tute nahin hain - Hindi poem

रिश्ते टूटे नहीं हैं Rishte tute nahin hain - Hindi poem

  रिश्ते टूटे नहीं हैं (हिंदी कविता)/rishte tute nahin hain (Hindi poem) रिश्ते टूटे नहीं हैं.. उम्मीद नहीं कोई तुमसे अब शिकवा नहीं कोई तुमस...
 प्यार  मोहब्बत इश्क़  pyaar  mohabbat ishq - poem

प्यार मोहब्बत इश्क़ pyaar mohabbat ishq - poem

प्यार, मोहब्बत,इश्क़ ( हिंदी कविता)/pyaar, mohabbat,ishq ( Hindi poem) प्यार,मोहब्बत,इश्क़  बड़े नादान हैं वो जो पूरी प्रेम कहानी की ख्वाहिश...
मत भूलना Mat Bhulna - Hindi poem

मत भूलना Mat Bhulna - Hindi poem

 मत भूलना - हिंदी कविता/ Mat Bhulna (Hindi poem) मत भूलना.. कभी यह मत भूलना.. जब तुम रोते हो, तब मेरा दिल भी रोता है। आंसुओं का क्या है? कभी...
पढ़ लो Padh lo - Hindi poem

पढ़ लो Padh lo - Hindi poem

पढ़ लो..(हिंदी कविता)/Padh lo..( Hindi poem) पढ़ लो..  (हिंदी कविता) शब्द  नहीं,  आज.. कुछ लिखने को। ~~~ पढ़ सको तो, पढ़ लो.. कोरे कागज को।।...
अगर वो नहीं तो क्या हुआ Agar wo nahin to kya huwa - Hindi poem

अगर वो नहीं तो क्या हुआ Agar wo nahin to kya huwa - Hindi poem

  अगर वो नहीं तो क्या हुआ( हिंदी कविता)/Agar wo nahin to kya huwa(Hindi Poem) (सदियों से प्यार को अलग अलग तरह से देखा समझा और महसूस किया जात...
क्या तुम भी ऐसे अपने ग़म छुपाते हो Kya tum bhi aise apne gham chhupate ho - Hindi poem

क्या तुम भी ऐसे अपने ग़म छुपाते हो Kya tum bhi aise apne gham chhupate ho - Hindi poem

क्या तुम भी ऐसे अपने गम छुपाते हो! (हिंदी कविता)/ Kya tum bhi aise apne gham chhupate ho! (Hindi poem) (कहते हैं रोना कमज़ोरी की निशानी है, ...
थोड़ा और की चाह Thoda aur ki chah - Hindi poem

थोड़ा और की चाह Thoda aur ki chah - Hindi poem

थोड़ा और की चाह ( हिंदी कविता)/ Thoda aur ki chah(Hindi Poem) ( कभी कभी हम उन खुशियों को नहीं देख पाते या उनकी कद्र नहीं करते जो हमारे आस पा...
वक़्त के सीने में Waqt ke seene mein

वक़्त के सीने में Waqt ke seene mein

  वक़्त के सीने में (हिंदी कविता)/Waqt ke seene mein (Hindi poem) (कालचक्र ने हमेशा ही संसार को नये नये दौर दिखाए हैं। इन परिस्थितियों में ह...

Search

Theme images by Michael Elkan