प्यार मोहब्बत इश्क़ pyaar mohabbat ishq - poem


प्यार, मोहब्बत,इश्क़ ( हिंदी कविता)/pyaar, mohabbat,ishq ( Hindi poem)

ishq pyaar mohabbat


प्यार,मोहब्बत,इश्क़

 बड़े नादान हैं वो

जो पूरी प्रेम कहानी

की ख्वाहिश रखते हैं।

 यहां तो..

प्यार, मोहब्बत,इश्क़

बेचारे एक-एक अक्षर 

खुद ही अधूरे फिरते हैं।

(स्वरचित)
:- तारा कुमारी

(कैसी लगी आपको यह कविता?जरूर बताएं। यदि पसंद आए या कोई सुझाव हो तो कमेंट में लिखे। आपके सुझाव का हार्दिक स्वागत है।)

मैंने इस ब्लॉग में हमारे आसपास घटित होने वाली कई घटनाक्रमों को चाहे उसमें ख़ुशी हो, दुख हो, उदासी हो, या उत्साहित करतीं हों, दिल को छु लेने वाली उन घटनाओं को अपने शब्दों में पिरोया है. कुछ को कविताओं का रूप दिया है, तो कुछ को लघुकथाओं का |

Poem
January 27, 2021
0

Comments

Search

Theme images by Michael Elkan